शुक्रवार, 19 मार्च 2010

दतिया










ग्वालियर में प्रवेश करने से पहले मैं दतिया की ओर भी मुड़ गया. देखिये मेरी साइकिल के फ्रेम से दतिया का सातमंजिला महल दिख रहा है.
('बदली' वाले मौसम को देखकर मैंने कैमरे का एपर्चर बढ़ाना तथा शटर स्पीड घटाना चाहा, मगर लगता है, दोनों कुछ ज्यादा ही हो गये. फोटो सुन्दर नहीं आये. या फिर, ब्लैक एण्ड व्हाईट फोटोग्राफी के कायदे-कानून सख्त होते होंगे.)

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें